Wednesday, February 18, 2009

सूफी ढोल

2 comments:

ज्ञानदत्त । GD Pandey said...

मजा आ गया। ढोल बजाना सीखने का मन हो आया।

राज भाटिय़ा said...

वाह जी हम तो पंजाबी है इस लिये ढोल सुनते ही भंगडा शुरु कर दिया, धन्यवाद