Tuesday, September 23, 2008

सीईओ की हत्या मैनेजमेंट के लिए चेतावनी: श्रम मंत्री

ग्रेटर नोएडा में इतालवी कंपनी ग्रेजियानो ट्रांसमिशियोनी के सीईओ एल. के. चौधरी की हत्या की उद्योग जगत ने भले ही निंदा की हो लेकिन सरकार का मानना है कि यह श्रमिकों में बढ़ते असंतोष का नतीजा है। केंद्रीय श्रम मंत्री ऑस्कर फर्नांडिस ने मंगलवार को कहा, ' इस घटना को कंपनियों के प्रबंधनों को चेतावनी के रूप में लेना चाहिए। ' उन्होंने कहा कि मैं कंपनियों के प्रबंधन से अपील करता हूं कि कर्मचारियों के मामले में संवेदनशीलता से सोचें। ऑस्कर फर्नांडिस ने कहा, ' स्थायी कर्मचारियों और ठेके के कर्मचारियों के वेतन में भारी अंतर होता है। कर्मचारियों के साथ इस तरह का व्यवहार नहीं करना चाहिए जिससे ग्रेटर नोएडा जैसी घटना फिर से घटे। ' उन्होंने कहा, ' यह सही है कि संगठित श्रमिकों की संख्या घट रही है। सात प्रतिशत से घटकर यह अब छह प्रतिशत हो गई है। लेबर कांग्रेस में हम ' हायर ऐंड फायर पॉलिसी ' पर चर्चा करेंगे। पहले हम पीएसयू में इस समस्या को सुलझाएंगे और इसके बाद निजी क्षेत्र का रुख करेंगे। '

3 comments:

Udan Tashtari said...

अफसोसजनक घटना!!अब सचेत तो होना ही पड़ेगा इस दिशा में.

Mrs. Asha Joglekar said...

Shayad aisee ghatanaen kuch sikha saken.

सतीश पंचम said...

अब अगर घंटी सुनाई न पडी तो सचमुच काफी देर हो जायगी।